Exam Information| Govt Jobs.| Exam Preparation | Exam Study Material |Exam Date|Material PDF

Blood Group

                        आज की इस पोस्ट मे हम आपको General Science Gk in Hindi मानव शरीर (Blood Group) से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न शेयर कर रहे हैं। ये सभी प्रश्न आपकीssc cgl, cpi, chsl, Mts, group-d, Railway, rrb ,  police की तैयारी के लिए काफी फायदेमंद रहेंगे।


                         

                            Class 【Blood group】


★ blood class was discovered by Carl Ferdinand Sṭinara.
★ antibodies {Antibody} these are made of protein which are found in plasma.
These are 2 types of: - a and b
★ Antigens {ANTIGEN} these are made of glaiko protein that stick to RBC.
These are also 2 TYPES :- a and b
★ HUMANS HAVE 4 types of blood classes on the basis of antigen.

Blood group     Antigen         Antibody
◆ A                         A                     a
◆ B                         B                     b
◆ AB                     AB                     _
◆ O                         _                        ab    

★ if the blood of two different classes will be offered to the same person, then the antibodies and antibody are glued to the action that makes the person die.
★ blood class is now called omnibus {Universal Acceptor} This can take blood from any blood class person Because it has both a and b types of antigen.
★ blood class o is called sarvadātā {Universal Donor} This can donate blood to any blood class person Because in this the antigen are absent.

                        ■ Blood donation 【Blood donation】

★ at once humans can donate 10 % blood. After 2 weeks he can donate blood again.
★ blood can be stored by store in blood bank for a maximum of 42 days.
★ blood is stored at 4.4 ℃ temperature.

                                ■ Rh - factor

★ it was first discovered by laiṇḍasṭinara and Venus named vejnaniko in a monkey called risasa.
★ the person in which this is found is RH + ve and those who are not found are called RH-ve.
★ IF RH + VE MAN IS MARRIED TO RH-VE WOMAN, then the first child will be normal. After this, the issue will either die in the womb or will be born weak and ill.
RH vaccines are applied to protect this.

   वर्ग 【Blood Group 】
★ रक्त वर्ग की खोज कार्ल लैण्ड स्टीनर ने की थी।
★ प्रतिरक्षी { antibody } : - ये प्रोटीन के बने होते है जो प्लाज्मा में पाये जाते है।
ये 2 प्रकार के होते है : - a और b
★ प्रतिजन { antigen } : - ये ग्लाइको प्रोटीन के बने होते है जो RBC से चिपके रहते है ।
ये भी 2 प्रकार के होते है :- A और B
★ एंटीजन के आधार पर मनुष्य में 4 प्रकार के रक्त वर्ग होते है ।


Blood group     Antigen         Antibody

◆ A                         A                     a
◆ B                         B                     b
◆ AB                     AB                     _
◆ O                         _                        ab    


★ यदि दो अलग - अलग वर्ग का रक्त एक ही व्यक्ति को चढ़ा दिया जायेगा तो एंटीजन और एंटीबाडी क्रिया करके चिपक जाते है जिससे व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है ।
★ रक्त वर्ग AB को सर्वग्राही { Universal Acceptor } कहा जाता है । ये किसी भी रक्त वर्ग के व्यक्ति से रक्त ग्रहण कर सकता है क्योंकि इसमें A और B दोनों प्रकार के एंटीजन होते है।
★ रक्त वर्ग O को सर्वदाता { Universal donor } कहा जाता है । यह किसी भी रक्त वर्ग वाले व्यक्ति को रक्तदान कर सकता है
क्योंकि इसमें एंटीजन अनुपस्थित होते है ।


                        ■ रक्त दान 【 Blood Donate 】
★ एक बार में मनुष्य 10 % रक्तदान कर सकता है । 2 सप्ताह बाद वह पुनः रक्तदान कर सकता है।
★ रक्त को अधिकतम 42 दिन तक blood bank में store करके रखा जा सकता है।
★ रक्त को 4.4 ℃ तापमान पर स्टोर करके रखा जाता है।


                                    ■ Rh - फैक्टर
★ इसकी खोज सबसे पहले लैंडस्टिनर और वीनस नामक वेज्ञानिको ने मिलकर रीसस नामक बन्दर में की थी।
★ जिन व्यक्तियो में यह पाया जाता है उनको Rh + ve तथा जिनमे नही पाया जाता उनको Rh - ve कहते है ।
★ यदि Rh + ve पुरुष का विवाह Rh - ve स्त्री से कराया जाये तो पहली सन्तान सामान्य होगी इसके बाद होने वाली सन्ताने या तो गर्भ में ही मर जायेगी या फिर कमजोर और बीमार पैदा होंगी।
इससे बचाव के लिये Rh ° के टीके लगाये जाते है ।


No comments:

Post a comment

LinkWithin